बिहार मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति योजना – SC/ST उद्यमियों के लिए ब्याज मुक्त ऋण

बिहार सरकार ने 5 अगस्त 2018 को मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति उद्यमी योजना शुरू की थी। इस मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक SC/ST उद्योग योजना के तहत, सरकार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों की श्रेणी में आने वाले सभी उद्यमियों को ब्याज मुक्त ऋण प्रदान करेगी। राज्य सरकार एक लघु उद्योग या व्यापार शुरू करने के लिए 10 लाख रुपये तक की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति योजना के तहत कुल वित्तीय सहायता में से आधी राशि सब्सिडी के रूप में और बाकी राशि ब्याज मुक्त ऋण के रूप में उपलब्ध करेगी। सभी आवेदनकर्ताओ को अपने नए व्यवसाय के शुरू होने के बाद 84 किश्तों में ऋण चुकाना पड़ेगा।

यह योजना SC/ST उद्यमियों को काफी हद तक लाभान्वित करेगी और उन्हें अपना व्यवसाय स्थापित करने में सहायता करेगी। जिससे अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों का विकास होगा।

बिहार मुख्यमंत्री SC /ST उद्यमी योजना 2018 – Bihar Mukhyamantri SC/ST Udyami Yojana 2018

इस योजना के तहत SC / ST उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम योग्यता इंटर पास (कक्षा 10 वीं) होना जरूरी है। मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति उद्योग योजना की महत्वपूर्ण और मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं: –

  • Bihar CM SC/ST उद्यमी योजना के तहत, सरकार वित्तीय सहायता के रूप में 10 लाख रुपये प्रदान करेंगी।
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति उद्यमियों को इस कुल राशि में से 5 लाख रुपए सब्सिडी के रूप में और 5 लाख रुपए ऋण के रूप में दिया जायेगा।
  • 5 लाख की ऋण राशि पर कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा और उद्यमियों को पुनर्भुगतान के दौरान कोई अतिरिक्त राशि का भुगतान भी नहीं करना पड़ेगा।
  • मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति योजना के तहत, उद्यमियों को 84 बराबर किस्तों में ऋण चुकाना होगा।
  • पुनर्भुगतान किस्त केवल प्रस्थापित उद्योग या व्यापार शुरू होने के बाद ही शुरू होगी।
  • ब्याज मुक्त ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया को बिहार सरकार ने सरल बना दिया है। किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक से लाभार्थी को स्वयं के द्वारा घोषणापत्र पर ऋण दिया जा सकता है।Bihar Anusuchit Jati Evam Anusuchit Janjati Udyami Yojana                                              बिहार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति उद्योग योजना

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति सदस्यों को हमेशा ऋण प्राप्त करने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है क्योंकि बैंक ऋण के लिए आवेदन को किसी न किसी बहाने या अन्य तरीको से अस्वीकार कर देते हैं। यह योजना उन्हें बिना किसी ब्याज के बैंकों से ऋण लेने में मदद करेगी। यह योजना उन्हें अन्य उम्मीदवारों को भी रोजगार प्रदान करने में सक्षम बनाएगी। राज्य सरकार समाज के कमजोर वर्ग के लोगो के जीवन स्तर में सुधार करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। बिहार सरकार विशेषकर SC/ST समुदाय से सभी उद्यमियों विकास के क्रम में शामिल करना चाहती है।

उद्योग विभाग ने घोषणा होने के दो महीनों के भीतर इस योजना को लॉन्च कर दिया था। प्राप्त किए गए कुल 3000 आवेदनों में से 500 लाभार्थियों का चयन किया गया था। इन चयनित लाभार्थियों में से 135 को पहले ही प्रशिक्षित किया जा रहा है और अन्य 150 उद्यमियों के लिए प्रशिक्षण जल्द ही शुरू हो जाएंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 5 लाभार्थियों को 5-5 लाख रुपए इस योजना के आधिकारिक लॉन्च को चिह्नित करने के लिए दिए थे।

बिहार मुख्यमंत्री SC/ST उद्यमी योजना ऑनलाइन आवेदन पत्र

सभी अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति उम्मीदवार जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, पूरी योग्यता शर्तों की जांच कर सकते हैं और आधिकारिक स्टार्टअप बिहार वेबसाइट के माध्यम से अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति योजना (Bihar SC/ST Scheme Online Application Form) के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र भर सकते हैं:-
http://www.startup.bihar.gov.in/CMSCSTUDYAMI/Default.aspx

इस वैबसाइट पर उम्मीदवार पहले अपना पंजीकरण कर सकते हैं और फिर अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए 10 लाख रुपए सब्सिडी और ब्याज मुक्त ऋण के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र भर सकते हैं।

Related Content
Disclaimer & Notice: This is not the official website for any government scheme nor associated with any Govt. body. Please do not treat this as official website and do not leave your contact information in the comment below.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.