हरियाणा मनोहर ज्योति योजना – सोलर होम सिस्टम लगवाने पर 15000 रूपये की सब्सिडि

हरियाणा सरकार मनोहर ज्योति योजना के अंतर्गत उपभोक्ताओं को अपने घरों में सोलर पैनल सिस्टम(Solar Home Systems) लगवाने के लिए प्रोत्साहन राशि देने जा रही है। इस योजना से नवीकरणीय ऊर्जा (Renewable energy) को बढ़ावा मिलेगा सरकार चाहती है की Renewable energy का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल हो इसी वजह से सरकार उन उपभोक्ताओं को जो अपने घर में सोलर पैनल लगवाएंगे उन्हे 15,000 सब्सिडि प्रदान करेगी।

मनोहर ज्योति योजना हरियाणा सरकार की एक सरकारी योजना है जिसे वित्त वर्ष 2017 (FY 2017) में शुरू किया गया था इस योजना का लक्ष्य राज्य में 1 लाख सोलर पैनल सिस्टम (Solar lighting systems) को लगाना है। लगाए जाने वाले Solar home systems लिथियम बैटरी से लैस होंगे जो लंबे चलने वाले होंगे और इनके रखरखाव की आवश्यकता भी नहीं होगी।

नई सौर प्रणाली राज्य के सभी उपभोक्ताओं को सब्सिडी पर उपलब्ध कराई जाएगी ताकि नागरिकों को अपने घरों में बिजली और रोशनी से संबंधित किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े।

हरियाणा सोलर होम सिस्टम – मनोहर ज्योति योजना

राज्य के प्रत्येक घर में बिना रुके बिजली की आपूर्ति को सुनिश्चित करना ही राज्य सरकार की प्राथमिकता है। राज्य सरकार का कहना है की इस बिजली प्रणाली से यह लक्ष्य प्राप्त करना आसान हो जाएगा।

इस सौर प्रणाली से एक छत का पंखा और 3 LED बल्ब को चलाया जा सकता है। इसके अलावा सौर घर प्रणाली (Solar Home System) में मोबाइल चार्जिंग पोर्ट भी होगा। सोलर होम सिस्टम लगाने और प्रोत्साहन राशि के बारे में और अधिक जानने के लिए, हरियाणा सरकार की Official press release Haryana वेबसाइट पर जाएं।

पहले वित्त वर्ष 2017 में नवीकरणीय ऊर्जा विभाग (Renewable Energy dept.) ने राज्य में सौर छत परियोजनाओं (Solar rooftop projects) को स्थापित करने के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए थे। ये नए दिशानिर्देश सभी solar rooftop projects पर लागू होते हैं जिनकी क्षमता 1 किलोवाट से 500 किलोवाट तक होती है।

Related Content

2 comments on “हरियाणा मनोहर ज्योति योजना – सोलर होम सिस्टम लगवाने पर 15000 रूपये की सब्सिडि

  1. Santram says:

    Bpl ka hme koi lab nhi mila h jya kre

Disclaimer & Notice: This is not the official website for any government scheme nor associated with any Govt. body. Please do not treat this as official website and do not leave your contact information in the comment below.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.